कैसे 12वीं पास बन सकते हैं इंडियन आर्मी ऑफिसर, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें…

कैसे 12वीं पास बन सकते हैं इंडियन आर्मी ऑफिसर, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें…

भारतीय सेना, रोजगार और ट्रेनिंग के अपने हाई स्‍टैंडर्ड्स के लिए पूरे विश्‍व में जानी जाती है. सेना में रिक्रूटमेंट प्रक्रिया दो प्रकार से होती है-परमानेंट यानी स्‍थायी कमीशन और शॉर्ट सर्विस कमीशन जिसे आप अस्‍थायी कमीशन भी बोल सकते हैं.

पूरे देश में इस समय सर्विस सेलेक्‍शन बोर्ड (एसएसबी) घोटाले का शोर है. बताया जा रहा है कि इस घोटाले में कई सर्विंग ऑफिसर्स भी शामिल हैं. 5 लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के ऑफिसर्स तो दो ऑफिसर्स मेजर रैंक के हैं. इस घोटाले की जांच फिलहाल जारी है. घोटाले से अलग आप यह बात जानकर हैरान होंगे कि 12वीं में अगर आपके मार्क्‍स 50 प्रतिशत से भी कम हैं तो भी आप एक बेहतरीन आर्मी ऑफिसर बन सकते हैं.

आपको सेना में ऑफिसर बनने के लिए गलत रास्‍तों की जरूरत नहीं. बस शारीरिक और मानसिक तौर पर पूरी तरह से फिट होना काफी. जानिए कैसे आप एक इंडियन आर्मी ऑफिसर बनकर उस यूनिफॉर्म को हासिल कर सकते हैं जिसे पहनना किसी गौरव से कम नहीं है.

कई तरह की प्रक्रियाएं

इंडियन आर्मी को दुनिया की एलीट सेनाओं में शामिल किया जाता है. भारतीय सेना, रोजगार और ट्रेनिंग के अपने हाई स्‍टैंडर्ड्स के लिए पूरे विश्‍व में जानी जाती है. सेना के लिए सेलेक्‍ट होना और फिर देश की सेवा करना सबसे मुश्किल और सम्‍मानित कार्य माना जाता है. इंडियन आर्मी में रिक्रूटमेंट प्रक्रिया दो प्रकार से होती है-परमानेंट यानी स्‍थायी कमीशन और शॉर्ट सर्विस कमीशन जिसे आप अस्‍थायी कमीशन भी बोल सकते हैं.

किसी भी उम्‍मीदवार को चुनने के लिए सेना कई तरह की प्रक्रिया और मानकों को अपनाती है. अलग-अलग पदों के लिए रिक्रूटमेंट को पूरा किया जाता है जिसमें जवान, ऑफिसर्स, इंजीनियर्स, वकील, नर्स, जज और दूसरे पद शामिल होते दहैं. इन सभी पदों को सेना ने स्‍थायी और अस्‍थायी तौर पर विभाजित किया हुआ है.

मुश्किल लेकिन असंभव नहीं

अगर आप सेना में स्‍थायी कमीशन हासिल करना चाहते हैं तो वो आपको देहरादून स्थित इंडियन मिलिट्री एकेडमी (आईएमए) से मिलता है. यहां पर 19 से 24 साल की आयु तक के कैडेट्स आते हैं.

परमानेंट कमीशन के तहत कई पदों की पेशकश की जाती है और जब तक ऑफिसर रिटायरमेंट की उम्र तक नहीं पहुंच जाते, तब तक वह अलग-अलग रैंक्‍स पर प्रमोट होते रहते हैं.

आईएमए पहुंचना थोड़ा मुश्किल है लेकिन असंभव बिल्‍कुल नहीं है. आईएमए का रास्‍ता, नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) से होकर गुजरता है.

12वीं में परसेंटेज को तवज्‍जो नहीं

12वीं की परीक्षा के बाद आपको नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) पहुंचना होता है और एनडीए पहुंचने के लिए आपको यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन यानी UPSC की परीक्षा पास करनी होती है. एनडीए की परीक्षा के लिए आपकी उम 17 साल से लेकर 19 साल तक होनी चाहिए.

जहां बाकी परीक्षाओं में आपके 12वीं में आए कुल मार्क्‍स का प्रतिशत देखा जाता है तो एनडीए में जाने के लिए आपके बोर्ड परीक्षा में आए नंबरों को ज्‍यादा तवज्‍जो नहीं दी जाती है. किसी भी उम्‍मीदवार को परीक्षा देने के लिए फिजिक्‍स, मैथ्‍स और केमेस्‍ट्री (PCM) से 12वीं पास होना जरूरी होता है.

एनडीए में कैडेट्स 3 साल तक कड़ी ट्रेनिंग से गुजरते हैं. इसके बाद जिन्‍हें थल सेना में शामिल होना है वो आईएमए, जिन्‍हें वायुसेना में जाना होता है उन्‍हें हैदराबाद स्थित एयरफोर्स एकेडमी और जिन्‍हें नौसेना में जाना है उन्‍हें केरल के एझीमला स्थित नेवल एकेडमी भेजा जाता है.

साल में दो बार NDA का एग्‍जाम

एनडीए की परीक्षा साल में दो बार होती है. एक बार लिखित परीक्षा पास कर एसएसबी का इंटरव्‍यू क्‍लीयर करना होता है. इसके बाद उन्‍हें मेडिकल राउंड क्‍लीयर करना भी जरूरी है. एनडीए में फाइनल सेलेक्‍शन रिटेन एक्‍जाम, एसएसबी इंटरव्‍यू और मेडिकल राउंड में आई रिपोर्ट्स के आधार के पर होता है.

एनडीए के अलावा यूपीएससी की परीक्षा के जरिए आप डायरेक्‍ट एंट्री भी ले सकते हैं. डायरेक्‍ट एंट्री आपको आईएमए या फिर ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (OTA) लेकर जाती है. 12वीं के बाद यूनिवर्सिटी एंट्री स्‍कीम्‍स के तहत भी आप ऑफिसर बन सकते हैं. इसके अलावा इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स के लिए भी इसी तरह से मौके होते हैं.

शॉर्ट सर्विस कमीशन क्‍या है

शॉर्ट सर्विस कमीशन (एसएससी): इसके जरिए चुने हुए कैडे्टस को ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) भेजा जाता है जो कि चेन्‍नई में स्थित है. एसएससी के लिए उम्‍मीदवार की आयु 19 से 25 साल होनी चाहिए. इस श्रेणी के तहत जिन ऑफिसर्स को सेलेक्‍ट किया जाता है, उनकी सर्विस 10 साल की होती है. सर्विस पूरी होने के बाद ऑफिसर्स को ऑप्‍शन दिया जाता है कि वो चाहें तो रिटायर हो जाएं या फिर अगर चाहें तो परमानेंट कमीशन लेकर सर्विस जारी रख सकते हैं.

4 साल का एक्‍सटेंशन भी इसमें संभव है. इसके तहत उम्‍मीदवार किसी भी समय चाहें तो सेना को छोड़ सकते हैं. एसएससी के लिए इस तरह से उम्‍मीदवारों का चयन किया जाता है:

गैर-टेक्निकल जो पुरुष और महिलाओं दोनों के लिए है.
टेक्निकल इसमें भी महिला और पुरुष दोनों ही जा सकते हैं.
एनसीसी स्‍पेशल एंट्री

ग्रेजुएशन के बाद भी आपके पास सेना में जाने का विकल्‍प होता है. ऐसे उम्‍मीदवार जिनकी उम्र 19 साल से 24 साल के बीच है और उन्‍होंने ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर ली है, वह सेना के लिए अप्‍लाई कर सकते हैं. आईएमए के लिए सेलेक्‍शन, कंबाइंड डिफेंस सर्विस (सीडीएस) की परीक्षा और एसएसबी इंटरव्‍यू के आधार पर होता है.

Leave a Reply